fbpx
  • 1
  •  
  •  
  •  
    1
    Share

130 करोड़ से अधिक आबादी में से 10% से कम भारतीयों के पास फॉर्मल क्रेडिट की पहुंच है। यह विशाल वर्ग आज भी किसी प्रकार की बैंकिंग या क्रेडिट सेवा का लाभ नहीं उठा पा रहा है। अधिकांश के पास कोई क्रेडिट इतिहास नहीं है। पारंपरिक बैंकिंग जो कि लोन की मंजूरी देने के लिए मुख्य रूप से क्रेडिट इतिहास पर निर्भर करती है, इस वर्ग को लोन नहीं दे पाती।

हाल के वर्षों में फाइनैंशल इन्क्लूज़न सरकार की सर्वोच्च प्राथमिक्ता रही है। क्रेडिट, जो कि फाइनैंशल आज़ादी देने में मुख्य कारनों में से एक है, अब फिनटेक क्षेत्र में भी प्राथमिकता ले रहा है। यही कारण है कि ePayLater ने इस क्षेत्र में डेटा विज्ञान में अपनी टेक्नोलॉजिकल इनोवेशन के साथ कदम बढ़ाया है। सरकार के फाइनैंशल इन्क्लूज़न और डिजिटल इंडिया के इस लक्ष्य का समर्थन करने पर हमें गर्व है।

व्यक्तियों का फाइनैंशल इन्क्लूज़न

पारंपरिक बैंकिंग सुविधाओं तक बहुत कम या कोई पहुंच न होने के कारण, बहुत से लोग आसानी से क्रेडिट प्राप्त करने के लिए ePayLater की तरफ बढ़ रहे हैं। ePayLater एक महत्वपूर्ण तरीके से भारत में भुगतान के तरीके को बदल रहा है।

ePayLater की “बाए नाओ, पे लेटर” तकनीक का उपयोग करना बहुत आसान है। कुछ ही क्षणों में, आप 20000 रुपये तक ePayLater क्रेडिट प्राप्त कर सकते हैं, जिसका उपयोग आप पार्टनर मर्चेंट पर लेनदेन के लिए कर सकते हैं। इस क्रेडिट का उपयोग आप रेलवे टिकट, होटल बुकिंग, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस, मूवी टिकट और बिल भुगतान जैसी सेवाओं के लिए कर सकते हैं। आपको पुनर्भुगतान के लिए खरीद की तारीख से 14-दिन की ब्याज़-मुक्त अवधि मिलेगी, जिस दौरान आप अतिरिक्त लेनदेन कर सकते हैं। पुनर्भुगतान के बाद आपकी क्रेडिट लिमिट वापस आ जाएगी, और आप अधिक लेनदेन करना जारी रख सकते हैं।

 

क्रेडिट प्राप्त करने के लिए, यहां साइन अप करें

 

 

एसएमई का फाइनैंशल इन्क्लूज़न

भारत में 5 करोड़ से अधिक एसएमई हैं जो ग्रामीण और अर्ध-शहरी आबादी के लिए रोजगार का स्रोत हैं। हालांकि, उनमें से केवल 10% से कम को क्रेडिट मिल पाता है। यह व्यवसाय क्रेडिट का लाभ किस प्रकार उठा पाते हैं इसमें ePayLater एक बड़ा परिवर्तन ला रहा है। हम इन व्यवसायों को अतिरिक्त वर्किंग कैपिटल प्राप्त करवाने में सहायता कर रहे हैं। हम न केवल क्रेडिट प्रदान कर रहे हैं बल्कि इन एसएमई की स्वतंत्रता भी सुनिश्चित कर रहे हैं।

इसके अलावा, हम इन व्यवसायों के लिए क्रेडिट इतिहास विकसित करने में भी मदद कर रहे हैं, ताकि भविष्य के लिए ये क्रेडिट योग्य व्यवसायों की सूची में शामिल हों। इस प्रकार, हम भारतीयों में डिजिटल साक्षरता ला रहे हैं और सरकार के फाइनैंशल और डिजिटल मिशन में भी हाथ बटा रहे हैं।

अपने व्यवसाय के लिए क्रेडिट का लाभ उठाने के लिए, यहां क्लिक करें

 

ePayLater भारत का पहला यूपीआई पावर्ड क्रेडिट समाधान है! अब आप जल्द ही किसी भी मर्चेंट पोर्टल पर क्रेडिट सेवाओं का उपयोग कर सकेंगे जो यूपीआई-सक्षम है।

अब क्रेडिट पे लेनदेन करें कहीं भी, कभी भी!


  • 1
  •  
  •  
  •  
    1
    Share
Categories: Fintech

1 Comment

Rajan Kumar Dutta · September 30, 2018 at 10:10 pm

Hi, good to talk about your company, can I refer and earn from your side ?, Also please allow customers to pay your dues in installments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *